अभी - अभी

 पांचवी की छात्रा की कला देख लोग हैं दंग

 

पांचवी की छात्रा की कला देख लोग हैं दंग

 अनोखी है शैली गुप्ता की चित्रकारी


       भोपाल: छोटी-सी उम्र में शैली गुप्ता ने यह साबित कर दिया है कि यदि मन में जुनून हो तो हमें कोई नहीं रोक सकता है। शैली की चित्रकारी ने सबके लिए एक उदाहरण पेश किया है। कहते हैं कि कला किसी की बपौती नहीं होती है, और न ही किसी की मोहताज होती है। कोई भी कला सीखने के लिए हमारे मन में जुनून होना चाहिए, और यही जुनून कक्षा पांच में पढ़ने वाली छात्रा शैली गुप्ता के मन में है।

       कला सीखने के लिए मन में जुनून हो, लालसा हो, सीखने की ललक हो तो इंसान कुछ भी सीख सकता है। ऐसी ही कला की एक सख्सियत भोपाल में योगिता गुप्ता जी की बेटी शैली गुप्ता बिना किसी प्रशिक्षण के चित्रकारी सीखकर कला का जो प्रदर्शन कर रही हैं, वह वास्तव में एक अलग और अनोखा उदाहरण है। उनकी प्रतिभा देखकर हर कोई स्तब्ध है। शैली गुप्ता ने अपनी पढ़ाई के साथ साथ लगातार अभ्यास, मेहनत व लगन से यह कला सीखी है।

       शैली गुप्ता की माँ योगिता जी का कहना है कि उनकी बेटी शैली गुप्ता पाँचवी कक्षा की छात्रा है। उसे चित्रकारी में बहुत ही रुचि है। अपना खाली समय का उपयोग वह इसी प्रकार रचनात्मक कार्य करने में करती है। शैली विद्यालय से आते ही खाली समय में चित्रकारी का अभ्यास करती रहती थी।

        शंकर आँजणा जालोर का कहना है कि शैली गुप्ता के इस जुनून को सलाम है, इतनी छोटी-सी उम्र में यह कला का बहुत ही शानदार प्रदर्शन। शैली गुप्ता ने किताबों व अखबारों में छपे फोटो देखकर चित्र बनाने का अभ्यास किया। उनके इस प्रयास में माता-पिता का सहरानीय सहयोग रहा। माता-पिता के प्रोत्साहन से शैली गुप्ता अपनी पढ़ाई के साथ चित्रकारी का अभ्यास भी करती रहती हैं।


शंकर आँजणा नवापुरा धवेचा
बागोड़ा जालोर

कोई टिप्पणी नहीं

janbhaashahindi.com is a literary website. Here you can read the works of famous and new poets from all over the country. You can also read articles related to education, business, science, mystery etc. You can also be exposed to the latest news from abroad. So please visit the website once for the content based on related topics…